SVAMITVA YOJANA (स्वामित्व योजना) योजना-2022

SVAMITVA YOJANA (स्वामित्व योजना) 2022

:-Survey of all Villages Abadi and Mapping with Improvised Technology in Village Areas:-

आज हम आपको एक बहुत ही बेहतरीन योजना के बारे में जानकारी देने जा रहे है। जिसको पढकर आप सभी को एक ऐसी जानकारी मिलने बाली है जिसके जरिये आप अपने घर की घरोनी निकाल सकते हैं।

घरोनी का मतलब जिस जगह पर आपका घर है वह जगह किसके  नाम पर है। घरोनी के द्वारा पता लगाया जा सकता है साथ ही आपकी इस जगह का एक वैलिड दस्तावेज आपके पास होगा जो यह प्रमाणित करेगा कि यह आवासिय जगह आपके नाम पर पंजिकृत ख्रजिस्टर्ड, है ।

लगभग 90 प्रतिशत से ज्यादा संपत्ति के मामलों से जुडे विवादों का निराकरण किया जा चुका है।

Table of Contents

SVAMITVA YOJANA (स्वामित्व योजना) योजना

गांव वासियों की कृषि भूमि, ग्राम सभा या फिर बंजर आदि भूमि का रिकॉर्ड की बात करें तो वह रेविन्यू विभाग के पास होता है, इसको कोई भी व्यक्ति इनकी आधिकारिक वेबसाइट पर भी चेक कर सकता है या फिर अपने तहसील में जाकर भी रिकॉर्ड देख सकता है। इस कृषि भूमि का मालिकाना हक दिखाने के लिए खसरा खतौनी इत्यादि बनाई गई है। जिसका यूज करके अपनी कृषि भूमि जमीनों का मालिकाना हक दिखा सकते हैं, लेकिन आज तक ग्रामीण क्षेत्रों में बने घरों का मालिकाना हक दिखाने के लिए कोई भी प्रामाणिक दस्तावेज नहीं था ।

ऐसे में बहुत सी परेशानियां सामने आती थी और यदि घरों का बंटवारा होने के बाद उनमें आपस में विवाद की स्थिति हमेशा बनी रहती है, और इसी कारण से काफी सारी दिक्कत गांव वालों को भी आने लगती है, मुकदमे बढ़ने लगते हैं क्योंकि गांव में रह रहे गांव वालों के घरों का कोई भी रिकॉर्ड किसी के पास नहीं होता है ऐसे में इस योजना के तहत मालिकाना हक मिल जाता है। जिसको घरोनी कहते हैं इसके आधार पर ही ग्रामीण बैंकों से घर में रह रहे व्यक्ति अपना लोन इस घरौनी के प्रमाण को दिखाने पर प्राप्त कर सकते हैं।

SVAMITVA YOJANA का उदेश्य

घरोनी योजना का उददेश्य है कि पूरे भारत में यदि हम ग्रामीण क्षेत्रों की लगभग 85 प्रतिशत आवासो के कोई भी ऐसा कानूनी दस्तावेज नही है जिससे कि उस आवास में रह रहे व्यक्ति यह सिद्ध कर सके कि वह आवास उसका है

इस योजना का मुख्य उददेश्य यही है कि अपने आवासो में रह रहे लोगो के दस्तावेज मिल सके साथ ही इस दस्तावेज में जगह की माप भी लिखी होती है। और साथ ही साथ सम्पूर्ण विवरण यह भी होता है कि आपके घर के पास किस किस का मकान व रास्ता  कैसा है

यदि हम सीधे शब्दों में बात करें तो जिस प्रकार से किसानों के पास अपनी खेती के दस्तावेज ख् बैनामा द्ध  होता है और इन सभी का सरकारी रिकार्ड होता है वैसे ही घरोनी का भी सरकारी रिकार्ड होगा ।  साथ ही यह रिकार्ड पंचायती राज की अधिकारिक वैवसाइट पर जाकर कोई भी व्यक्ति आनलाइन अपनी घरोनी का रिकार्ड देख सकता है और इसका प्रमाण पत्र भी डाउनलोड कर सकता है।

SVAMITVA YOJANA के तहत गांव के प्रत्येक मकान को मिलेगा एक यूनिक नम्बर

इस योजना का  सम्बंघ सीधे स्वामित्व योजना से है। इस योजना के तहत ग्रामीणों को दिया जाने वाला घरोनी प्रमाणपत्र पर एक यूनिक नम्बर भी दिया जाता है। यह यूनिक नम्बर 13 अंको का होता है यही नम्बर आपके मकान का पहचान प्रमाण अंक है।

भारत सरकार क्यों लेकर आई SVAMITVA YOJANA (स्वामित्व योजना)?

SVAMITVA YOJANA (स्वामित्व योजना) का उद्देश्य, भारत सरकार पंचायती राज मंत्रालय तथा प्रदेश के राजस्‍व विभाग और भारतीय सर्वेक्षण विभाग के साथ मिलकर ड्रोन तकनीक द्वारा सर्वेक्षण करके ग्रामीण क्षेत्रों मे उपस्थित आबादी के आवासीय अधिकार का अभिलेख तैयार करना है।

हम सभी इस बात से भलीभांति अवगत है कि ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले नागरिकों के पास अपनी खेती के भूमि के दस्तावेज तो होते हैं परंतु उन नागरिकों के रहने वाले आवास के दस्तावेज नहीं होते हैं, जिस कारण से ग्रामीण नागरिकों में आए दिन वाद-विवाद की स्थिति बनी रहती है और यह वाद विवाद कभी-कभी इतना ज्यादा बढ़ जाता है, कि इस बात विवाद के कारण ग्रामीण नागरिकों को पुलिस थाने और कोर्ट कचहरी के चक्कर भी काटने पड़ जाते हैं । स्वामित्व योजना के तहत सरकार सभी ग्रामीण नागरिकों का उनकी आवासीय जगह का मालिकाना हक के तौर पर एक डिजिटल प्रमाण पत्र या डिजिटल कार्ड देगी जो यह सबूत होगा कि यह संपत्ति इस व्यक्ति की है ।

SVAMITVA YOJANA (स्वामित्व योजना) योजना का लक्ष्य :-

  • ग्रामीण क्षेत्र मे रहने वाले सभी भारतीय नागरिकों को ऋण एबं अन्‍य वित्तीय लाभ प्राप्‍त करने के लिए, उस संपत्ति (भूमि) को एक वित्तीय परिसंपत्ति के रूप में प्रयोग उपयोग करके जरूरतमंद निवासियों को वित्तीय स्थिरता प्रदान करना।
  • ग्रामीण नियोजन कार्यों मे सटीक भूमि अभिलेखों और GIS नक्‍शों का निर्माण करना।
  • संपत्ति कर का निर्धारण करना ।
  • आपस मे होने वाले संपत्ति संबंधी विवादों को कम से काम करना।

SVAMITVA YOJANA के तहत घरौनी योजना में क्या है यूनिक नम्बर

यूनिक नम्बर आपके मकान का वह कोड है जिसके जरिये आप अपने मकान की सम्पूर्ण जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

इस यूनिक कोड में जो 13 अंक होते हैं उनको 3 अलग अलग जानकारियों से मिलकर बना होता है। शुरु के 6 अंक गांव के कोड कोे दर्शाता है और उसके आगे के 5 अंक आवादी के प्लाट नम्बर को दर्शाता है और आखिर के 2 अंक उस प्लाट के सम्भावित विभाजन को प्रदर्शित करता है।

PM Mudra Yojana (प्रधानमंत्री मुद्रा योजना) -2022

SVAMITVA YOJANA के तहत घरौनी की श्रेणियां

घरौनी की केन्द्र सरकार ने 9 श्रेणिया निर्धारित की हैं

  1. वह भूमि जिसमें केन्द्र सरकार के विभाग, निगम , प्राधिकरण आदि के भवन उपस्थित है।
  2. वह भूमि जिसमें राज्य सरकार विभाग के या राज्य सरकार निगम आदि के भवन हो ।
  3. वह भूमि जोकि अर्ध-सरकारी संस्थाओं या फिर उनमें उनके कार्यालय भवन इत्यादि बने हुए हैं।
  4. वह भूमि जिसमें सहकारी संगठन या स्वयं सहायता समूह इत्यादि के भवन ।
  5. वह भूमि जिसमें ग्राम पंचायत या स्थानीय निकाय आदि के भवन ।
  6. वह भूमि जिसमें किसी पारिवारिक, व्यक्तिगत या खुद का भवन हो।
  7. वह भूमि जिसमें किसी की कोई अपनी कंपनी या कॉर्पोरेशन कंपनियों या फिर फर्म इत्यादि ।
  8. वह भूमि जिसमें न्याय व धर्मार्थ संस्थाओं या एनजीओ के अधीन हो या उसमें उनके भवन उपस्थित हो।
  9. अन्य भवन व उसकी खाली पड़ी भूमि भी अलग श्रेणी में आती है।SVAMITVA YOJANA (स्वामित्व योजना) योजना-2022

अभी तक कितने राज्यों में शुरू हुई SVAMITVA YOJANA (स्वामित्व योजना)

24 अप्रैल 2020 को भारत के प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने स्वामित्व योजना की शुरूआत की थी। इस योजना के अनुसार घर के स्वामी को व गांव के नागरिकों को घर से जुडें जमीन के सही कागजात दिये जायेंगे।

यह स्वामित्व योजना अभी तक भारत देश के लगभग 9 प्रदेशों में शुरू हो गयी है जिसमे आंध्र प्रदेश,राजस्थान,पंजाब, कर्नाटक, महाराष्ट, मध्यप्रदेश, उत्तराखंड, उत्तरप्रदेश व हरियाणा आदि राज्य शामिल है। तथा शेष बचे राज्यों में भी इस योजना को शुरू किया जाने बाला है। इन 9 प्रदेशों के नागरिको को इस स्वामित्व योजना के संचालन से बहुत लाभ मिला हैं।

इस स्वामित्व योजना के अनुसार हमारे देश के लगभग 5.41 लाख गॉंव आयेगें, जिसके लिये भारत सरकार ने लगभग 566.23 करोड रूपयों का प्रावधान किया है इस कारण स्वामित्व योजना को आज तक सफल योजनाओं में माना जाता है।

SVAMITVA YOJANA (स्वामित्व योजना)के अनुसार वितरित किये जायेंगे 2.30 लाख सम्पत्ति कार्ड

भारत सरकार की इस स्वामित्व योजना के अनुसार केंद्र सरकार के दवारा 2ण्30 लाख संपत्ति के कार्ड बांटे जा चुके है। भारत सरकार के केंद्रीय पंचायती राज मंत्रालय के सचिव श्री अनिल कुमार जी के अनुसार लगभग 23300 गॉवों का डोन सर्वेक्षण 31 जनवरी 2021 तक किया जा चुका है। और 2ण्30 लाख संपत्ति कार्ड भी लगभग 1432 गॉवों में बॉटे जा चुके है।

केंद्रीय पंचायती राज मंत्रालय  के सचिव श्री अनिल कुमार जी ने यह भी बताया कि 90 प्रतिशत से 95 प्रतिशत विवादों का निस्तारण इस योजना के माध्यम से हो जाने की उम्मीद है जबकि

SVAMITVA YOJANA (स्वामित्व योजना) का लाभ

घरौनी, स्वामित्व योजना का सबसे बड़ा लाभ होगा कि ग्रामीण क्षेत्रों में सबसे ज्यादा झगड़े उनकी संपत्तियों पर कब्जे को लेकर होते रहते हैं, किस कारण से उस गांव में तनाव की स्थिति पैदा होती रहती है। इस योजना से यह लाभ होगा कि उसमें रहने वाले व्यक्तियों को उनकी संपत्तियों का एक प्रमाण मिल जाएगा जहां से यह कब्जे को लेकर होने वाले झगड़े काफी कम हो जाएंगे।

साथ ही गांव के लोगों को आवश्यकता पड़ने पर अपनी घरौनी को बंधक बनाकर बैंक से अपनी जरूरत के हिसाब से कर्ज ले सकते हैं, ड्रोन फोटोग्राफी के आधार पर इन सभी क्षेत्रों का एक मानचित्र तैयार किया जा रहा है ,जिसमें उन सभी मकानों को भी दर्शाया जारहा और उमलों एक यूनिक id भी दी जा रही है ।

SVAMITVA YOJANA (स्वामित्व योजना) कवरेज :-

इस योजना के शुरुआती फेज में केवल 9 राज्य को ही लिया गया है जिसमें आंध्र प्रदेश, हरियाणा, कर्नाटक, महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश, राजस्थान, पंजाब, उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश शामिल है। जिसमें लगभग 6.62 लाख गांव को कवर किया जाएगा यदि हम बात करें अप्रैल-20 से लेकर मार्च-21 तक लगभग 50 हजार गांव को टारगेट किया गया था और बाकी सभी पूरे हिंदुस्तान में वर्ष 2021 से लेकर 2025 तक काम पूरा कर लिया जाएगा।

SVAMITVA YOJANA (स्वामित्व योजना) Digilocker (डीजीलॉकर) से होंगी घरौनी डाउनलोड :-

यहां हम SVAMITVA YOJANA (स्वामित्व योजना) के तहत Digilocker (डीजीलॉकर) की भी बात करेंगे कि SVAMITVA YOJANA (स्वामित्व योजना) में Digilocker (डीजीलॉकर) का नाम कैसे आ गया, तो हम आपको यह बता दें, स्वामित्व योजना में मिलने वाला कार्ड को हम डिजी लॉकर के माध्यम से भी डाउनलोड कर सकते हैं जो कि स्वयं अपने आप ही आपका प्रॉपर्टी कार्ड बनने के बाद दिखने लगता है। यह कैसे काम करता है इसकी प्रक्रिया के लिए हमने नीचे एक पिक्चर भी दी हुई है कृपया उसको ध्यान से समझें।

https://upcmyogi.com/svamitva-yojana-2022/
SVAMITVA YOJANA (स्वामित्व योजना) Digilocker (डीजीलॉकर) से होंगी घरौनी डाउनलोड :-

SVAMITVA YOJANA (स्वामित्व योजना)  चेक करें अपनी भूमि का क्षेत्रफल :-

  • SVAMITVA YOJANA (स्वामित्व योजना)  के तहत यदि आप भी अपनी जमीन का डाटा चेक करना चाहते हैं, कि आप के नाम पर कितनी आवासीय भूमि पंजीकृत हैं तो इसके लिए आपको सबसे पहले इसकी official वेबसाईट https://svamitva.nic.in/ पर जाना होगा । https://upcmyogi.com/svamitva-yojana-2022/
  • इसके पश्चात आपको एक Cards Prepared का विकल्प मिलेगा जहां पर आप को क्लिक करना है।
  • इसके बाद आपको वेबसाईट मे नीचे की साइड दिए हुए Overall Progress सेक्शन पर जाकर property card distributed पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद आपको अपना प्रदेश, जिला, तहसील और फॉर अपने गाँव को सिलेक्ट करना है ।https://upcmyogi.com/svamitva-yojana-2022/
  • आब आपको अपने गाँव की लिस्ट नजर आएगी जिसमे आप अपना नाम खोज करकर आप अपनी आवासीय भूमि का क्षेत्रफल देख सकते है ।

SVAMITVA YOJANA (स्वामित्व योजना) उत्तरप्रदेश जानकारी :-

यदि हम बात करें उत्तर प्रदेश (Uttarpradesh) कि SVAMITVA YOJANA (स्वामित्व योजना)के तहत अभी तक उत्तर प्रदेश में कितने घरों की घरौनी वितरित की जा चुकी है तुम्हें संख्या 3451351 जो की बहुत बड़ी संख्या है। जो कि यह संख्या पूरे भारत कि लगभग 73 पतिशत है ।https://upcmyogi.com/svamitva-yojana-2022/

SVAMITVA YOJANA (स्वामित्व योजना) के तहत पूरे देश की जानकारी :-

हमने पूरे देश की जानकारी को एक सारणी के जरिए आप को समझाने की कोशिश की है जिसमें 31 प्रदेश शामिल हैं और प्रत्येक प्रदेश की जानकारी अलग-अलग हमने इसमें दी गई है।

Property Card Distributed Details
S.No State Total Village Notified Village Completed Village Property Count
Total 5,67,897 2,84,435 38,434 44,48,525
1 Andaman and Nicobar Islands 560 186 0 0
2 Andhra Pradesh 17,949 17,949 0 0
3 Arunachal Pradesh 5,480 2,885 0 0
4 Assam 27,913 1,307 0 0
5 Chhattisgarh 20,575 9,279 0 0
6 Dadar and Nagar Haveli and Daman and Diu 101 77 0 0
7 DELHI 222 49 0 0
8 Goa 410 410 0 0
9 Gujarat 19,034 14,814 11 2,119
10 Haryana 7,602 6,255 3,403 4,09,052
11 Himachal Pradesh 21,253 7,823 0 0
12 Jammu & Kashmir 6,856 4,590 18 1,119
13 Jharkhand 32,717 757 0 0
14 Karnataka 30,715 8,419 417 475
15 Kerala 1,666 1,666 0 0
16 Ladakh 243 243 2 2
17 Lakshadweep 27 10 0 0
18 Madhya Pradesh 55,777 41,004 6,650 6,22,361
19 Maharashtra 45,021 42,541 0 0
20 Manipur 3,856 185 0 0
21 Mizoram 864 825 0 0
22 Odisha 52,135 1,669 0 0
23 Puducherry 127 96 0 0
24 Punjab 12,782 5,562 0 0
25 Rajasthan 46,736 10,853 48 473
26 Sikkim 479 1 0 0
27 Tamil Nadu 18,482 2 0 0
28 Telengana 11,226 5 0 0
29 Tripura 898 898 0 0
30 Uttarakhand 17,173 8,419 5,201 1,54,491
31 Uttar Pradesh 1,09,018 95,656 22,684 32,58,433

SVAMITVA YOJANA (स्वामित्व योजना) प्रमाण पत्र (कार्ड ) डाउनलोड प्रक्रिया

सफलता की कहानियां

SVAMITVA Yojana स्वामितत्व योजना के तहत लिया गया ऋण

श्रीमति रामरती:- उत्तर प्रदेश के जिला बाराबंकी के नवाबगंज तहसील के ग्राम मोहम्मदपुर चौकी में रहने वाली एक महिला गृहस्वामी “श्रीमति रामरती“ ने अपने घर की मरम्मत और अपने व्यवसाय को और बढ़ाने के लिए एक हाथ गाड़ी की खरीद के लिए 20,000 रुपये का ऋण लिया है।

SVAMITVA Yojana स्वामितत्व योजना के तहत मिला मुआवजा 

श्री रामभरोसे विश्वकर्मा :- मध्य प्रदेश के हरदा जिले के ग्राम अबगांवकला के श्री रामभरोसे विश्वकर्मा को राष्ट्रीय राजमार्ग के निर्माण के लिए अधिग्रहीत भूमि के एवज मे स्वामित्व योजना के तहत संपत्ति कार्ड के आधार पर 21.14 लाख रुपये का मुआवजा मिला है।

2 thoughts on “SVAMITVA YOJANA (स्वामित्व योजना) योजना-2022”

Leave a Comment