[PMMVY] Pradhan Mantri Matru Vandana Yojana 2022 क्या है?

आज हम आपको एक एसी योजना के बारें में बताएँगे जिस का लाभ भारत की प्रत्येक गर्भवती महिलाओ को लेना चाहिए जिसका नाम है प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना (Pradhan Mantri Matru Vandana Yojana) इसको हम PMMVY के नाम से भी जानते है ।

भारत में अधिकांश महिलाओ को आज भी गर्भास्था में अल्प पोषण प्रतिकूल रूप से प्रभावित करता है। यह कहें की भारत में आज भी प्रत्येक तीसरी महिला अल्पपोषित एबं हर दूसरी महिला रक्ताल्पता (खून की कमी ) से पीड़ित है। अल्पपोषित महिलाये अधिकांश कम बजन वाले बच्चो को जन्म देती है । कुछ महिलाये आर्थिक तथा सामाजिक तंगी के कारण अपनी आख़िरी गर्भास्था तक अपने परिवार के लिए जीविका अर्जित करती रहती है जबकि उस समय तक उनका शरीर इस कार्य के लिए तैयार ही नहीं होता है। इसी कारण से वे महिलाएं और उनके बच्चे कुपोषण का शिकार होते रहते है इन सभी को इन अवस्थाओ बचने इ लिए प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना (Pradhan Mantri Matru Vandana Yojana)  भारत सरकार द्वारा चलाई जा रही है।




हम आपको बतादें इस योजना की शुरूआत वर्ष 2017 में हुई थी और इसका संचालन “प्रधान मंत्री मातृ वंदना योजना – महिला एवं बाल विकास विभाग” महिला एबं बल विकास मंत्रालय (MINISTRY OF WOMEN & CHILD DEVELOPMENT) द्वारा किया जा रहा है।

PM Kisan Credit Card योजना का आवेदन वर्ष 2022 में कैसे करें

Table of Contents

प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना 2022:-

प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना (PMMVY) का क्या उद्देश्य है?

प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना (Pradhan Mantri Matru Vandana Yojana)का उद्देश्य है कि :-

जो गर्भवती महिलाये मजदूरी करती है उनको उनकी मजदूरी की क्षति के वदले नकद राशि को प्रोत्साहन के रूप में आंशिक क्षति पूर्ती प्रदान करना गर्भ अवस्था में और बच्चे के जन्म के बाद पर्याप्त विश्राम कर सकें ।

  • दी गयी प्रोत्साहन राशि से गर्भवती महिलाओ और स्तनपान कराने वाली माताओं के स्वस्थ रहने के आंचरण में सुधर होगा ।

प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना (Pradhan Mantri Matru Vandana Yojana) में लक्षित लाभार्ती कौन है?

  • एसी गर्भवती महिलाओं एवं स्तनपान कराने वाली माताएं जो केंद्र साकार या राज्य सरकारों या सार्वजानिक उपकर्मो के साथ नियमित रोजगार में है या जो वर्तमान में लागू कानून के अंतर्गत सामान लाभ ले रही हो को छोड़कर , सभी गर्भवती महिलाओं एबं स्तनपान कराने वाली माताओं को इस योजना का लाभ मिलेगा ।
  • एसी गर्भवती महिलायें एबं स्तनपान कराने वाली माताएं जो पहले बच्चे के लिए 01-01-2017 को या उसके बाद गर्भवती हुई है उनको भी इस योजना का लाभ मिलेगा ।

(ध्यान रहे कि लाभार्थी के गर्भधारण की तिथि तथा चरण की गणना MCP कार्ड में उल्लेखित उसके पिछले महाबारी चक्र की तिथि के आधार पर की जाएगी )

PM Kisan Samman Nidhi योजना की 2022 में eKYC कैसे करें ?




गर्भपात या मृत जन्म के मामला हो तो क्या होगा?

  • लाभार्थी केवल एक बार लाभ प्राप्त करने के पात्र है ।
  • गर्भपात या मृत जन्म के मामले में किसी भावी गर्भधारण की स्थिति में बची हुई शेष किस्तों का दावा कर सकती है ।
  • गर्भवती महिला या स्तनपान करने वाली माता यदि आँगनवाड़ी कार्यकत्री , आंगनवाड़ी सहायिका और आशा है ते यह भी योजना की शर्तो के अधीन प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना (Pradhan Mantri Matru Vandana Yojana) का लाभ ले सकती है।

(यानि यदि पहली क़िस्त प्राप्त करने के बाद यदि लाभार्थी का गर्भपात हो जाता है तो बह मात्रता के मानदंडो एबं योजना की शर्तो की पूर्ति के आधीन भाबी गर्भधारण की स्थिति में केवल दूसरी एबं तीसरी क़िस्त प्राप्त करने की पात्र होगी । इसी प्रकार यदि पहली और दूसरी क़िस्त प्राप्त करने के बाद यदि लाभार्थी का गर्भपात हो जाता है या मृत शिशु का जन्म होता है तो बह मात्रता के मानदंडो एबं योजना की शर्तो की पूर्ति के आधीन भाबी गर्भधारण की स्थिति में केवल तीसरी क़िस्त प्राप्त करने की पात्र होगी।)

शिशु मृत्यु का मामला

लाभार्थी केवल एक बार लाभ प्राप्त करने के पात्र है ।अर्थात शिशु की मृत्यु हो जाती है और लाभार्थी प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना (Pradhan Mantri Matru Vandana Yojana) का लाभ की सभी किस्ते प्राप्त कर चुकी है तब लाभार्थी इस योजना का लाभ फिर से नहीं ले सकता ।

Pradhan Mantri Ujjwala Yojana(PMUY) 2.0 ऑनलाइन आवेदन कैसे करे 2022 में



 Pradhan Mantri Matru Vandana Yojana के क्या क्या लाभ है?

Pradhan Mantri Matru Vandana Yojana
Pradhan Mantri Matru Vandana Yojana
  • इस योजना के अंतर्गत लाभार्थी को प्रोत्साहन की राशि के रूप में 5,000 /- रूपये दिए जाते है जो कि यह धन राशि तीन किस्तों में दिए जाती है ।
  • पहली क़िस्त गर्भधारण के पंजीकरण पर जो कि यह पंजीकरण आंगनवाड़ी केंद्र या अनुमोदित स्वास्थ्य सुविधा केंद्र पर हो जो कि 1000/- रुपये कि मिलती है ।
  • दूसरी किस्त गर्भधारण के छ: महीने के बादऔर कम से कम 1 जांच प्रसव से पहले होनी चाहिए जिसकी राशि 2000 /- रूपये मिलती है ।
  • तीसरी किस्त बच्चे के जन्म का पंजीकरण कराने तथा बच्चे को BCG, OPV, DPT और Hepatitis-B या इसके समान टीके का पहला चक्र लगवाने के बाद मिलती है जिसकी राशि 2000 /- रूपये होती है।
  • साथ ही पात्र लाभार्थी संस्था में प्रसव होता है तब “जननी सुरक्षा योजना”( janani suraksha yojana) के तहत यह धनराशी प्राप्त होती है जिसकी गणना भी मातृत्व लाभ के लिए होती है और इसकी औसतन राशि 6000/- रूपये होती है ।

Pradhan Mantri Matru Vandana Yojana की आवेदन प्रक्रिया:-

हम आपको यह बतादे की इस pradhan mantri matru vandana yojana योजना की आवेदन प्रक्रिया ऑनलाइन नहीं है इस योजना में आवेदन पूर्णतय ऑफलाइन होता है प्रोसेस नीचे लिखा गया है –

सबसे पहले pradhan mantri matru vandana yojana में आवेदन करने के लिए आंगनवाड़ी केंद्र या अनुमोदित स्वास्थ्य सुविधा केंद्र से एक फॉर्म लेकर भरना होता है जो कि निशुल्क है ।

आप चाहे तो इस फॉर्म को इसकी ऑफिसियल वेबसाइट (www.wcd.nic.in) से भी डाउनलोड कर सकते है जिसका नाम फॉर्म 1क है ।

फिर इस फॉर्म को मांगी जानकारी द्वारा भरकर अपने नजदीकी आंगनवाड़ी केंद्र या अनुमोदित स्वास्थ्य सुविधा केंद्र पर जमा करदें ।

(ध्यान रहे इसमें आपका बैंक अकाउंट , मोबाइल नंबर , तथा पति-पत्नि का आधार नंबर भी दिया जाना होगा )

Aayushman Bharat (PMJAY) योजना का कार्ड कैसे बनवाएं-2022

जब आप अपना यह फॉर्म आंगनवाड़ी केंद्र या अनुमोदित स्वास्थ्य सुविधा केंद्र में जमा करते है तब सुनिश्चित करें कि आप अपनी पावती रसीद अवश्य लेकर आये जिससे की आपको आगे चलकर किसी भी प्रकार की समस्या का सामना न करना पड़े ।

Pradhan Mantri Matru Vandana Yojana में धनराशि  प्राप्त करने के लिए क्या करना होता है?

प्रत्येक क़िस्त की राशि प्राप्त करने के लिए  अलग अलग  फॉर्म भरकर अपने आंगनवाड़ी केंद्र या अनुमोदित स्वास्थ्य सुविधा केंद्र में जमा करने होते है :-

  1. पंजीकरण तथा पहली क़िस्त का दावा करने के लिए MSP कार्ड , लाभार्थी एबं उसके पति का पहिचान प्रमाण (यानि दोनों का आधार कार्ड ) एबं बैंक खाते की जानकारी सहित विधिवत रूप से भरा गया फॉर्म 1क जमा करना होता है ।
  2. (ध्यान रहे लाभार्थी पहली क़िस्त के लिए तभी मान्य होगी जब गर्भवती महिला का पंजीकरण आंगनवाड़ी केंद्र या अनुमोदित स्वास्थ्य सुविधा केंद्र में या आशा/एएनएम के पास LMP तिथि से 5 महा या 150 दिनों की समय सीमा के अंदर गर्भधारण का पंजकरण कराया हो )
  3. दूसरी क़िस्त की राशि प्राप्त करने के लिए लाभार्थी के गर्भधारण के छ: महा बाद एबं प्रसव पूर्व जाँच को दर्शाने वाले MSP कार्ड की छाया प्रति तथा विधिवत रूप से भरा गया फॉर्म 1ख जमा करना होता है ।
  4. तीसरी क़िस्त की राशि प्राप्त करने के लिए लाभार्थी से बच्चे के जन्म की पंजीकरण की छायाप्रति,बच्चे के टीके का पहला चक्र पूरा हो गया हो साथ ही MSP कार्ड पर ही अंकित किया गया हो तथा विधिवत रूप से भरा गया फॉर्म 1ग जमा करना होता है ।

Pradhan Mantri Matru Vandana Yojana में कितने दिन में प्राप्त होती है धनराशी ?

यदि कोई लाभार्थी इस योजना के अंतर्गत सही  तरीके से इस योजना में आवेदन करता है तब इस योजना की धनराशि पंजीकरण करने के अधिकतम 30 दिनों तक यह धनराशि लाभार्थी के बैंक खाते में आजायेगी ।.

आंगनवाड़ी कार्यकत्री /आशा / एएनएम की भूमिका

 प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना (Pradhan Mantri Matru Vandana Yojana) मे आंगनवाड़ी कार्यकत्री /आशा / एएनएम की एक महत्वपूर्ण भूमिका होती है जो कि इनका कार्य है कि आपके द्वारा आवेदन किया गया form को पर्यवेक्षक /एएनएम तक सत्यापन के लिए पहुचना , यह प्रक्रिया जितनी जल्दी हो जाती है आपके पास योजना कि धनराशि उतनी हि जल्दी आजती है।

PM Kisan Samman Nidhi योजना का कैसे करे आवेदन वर्ष 2022 में?



पर्यवेक्षक / एएनएम की भूमिका

प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना (Pradhan Mantri Matru Vandana Yojana) मे पर्यवेक्षक / एएनएम की भी एक महत्वपूर्ण भूमिका होती है जो कि आपके आवेदन का सत्यापन करने के बाद आपके आवेदन कि प्रक्रिया को आगे बढ़ाने के लिए सीडीपीओ/एमओ को भेज दिया जाता है और यह प्रक्रिया पर्यवेक्षक / एएनएम को एक सप्ताह के भीतर हि भेजनी होती है ।

सीडीपीओ/एमओ कि भूमिका

प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना (Pradhan Mantri Matru Vandana Yojana) मे सीडीपीओ/एमओ की भी एक महत्वपूर्ण भूमिका होती है जिसका काम प्राप्त की गई आवेदन दस्तावेजों के अनुसार सत्यापन करके उनकी जानकारी PMMVY-CAS software जो की यह एक वेबसाइट आधारित http://www.pmmvy-cas.gov.in या www.pmmvy-cas.nic.in पर अपलोड की जाती है और इस प्रोसेस के लिए भी इनको एक सप्ताह का समय निर्धारित किया गया है। और यह अपलोड किया गया डाटा राज्य के नोडल अधिकारी (SNO) के पास पहुँच जाती है ।

नोडल अधिकारी (SNO) की भूमिका

 प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना (Pradhan Mantri Matru Vandana Yojana) मे सभी की तरह नोडल अधिकारी (SNO) की भी एक महत्वपूर्ण भूमिका होती है जिसका काम सीडीपीओ/एमओ द्वारा की गयी आवेदन की संस्वकृति सूची की प्राप्ति से तीन दिनों के भीतर भुगतान प्रक्रिया शुरू हो जाती है ।

इस प्रकार से इस योजना के अंतर्गत लाभार्थी को उसकी प्रोत्साहन धनराशि एक महीने के अंदर लाभार्थी के बैंक खाते में पहुँच जाति है ।

योजना में लाभार्थी को भुगतान किस प्रकार से किया जाता है ?

प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना (Pradhan Mantri Matru Vandana Yojana) योजना का भुगतान पहले चेक द्वारा किया जाता था लेकिन अब इस योजना का भुगतान लाभार्थी के बैंक खतों में सीधे DBT के माध्यम से किया जा रहा है ।

https://upcmyogi.com/pradhan-mantri-m…u-vandana-yojana

 

विशेष शर्ते

  • यदि लाभार्थी तीसरी क़िस्त के लिए शर्तो को पूरा करती है परन्तु शिशु छ: माह से अधिक समय तक जीवित नहीं रहता तब यूज़ तीसी क़िस्त दे जाएगी ।
  • यदि लाभार्थी दो / तीन /चार बच्चो को जन्म देती है तो इस परिवार में पहले जीवित जन्म के रूप में मन जायेगा ।
  • किसी कारण से राज्य के अंदर या राज्यों के बीच प्रवासन के मामलो में लाभार्थी राज्य /संघ राज्य क्षेत्र स्तर पर कार्यान्वयन एजेंसी के आधार पर निकटतम आंगनवाड़ी केंद्र या अनुमोदित स्वास्थ्य सुविधा केंद्र पर आधार नम्बर या MSP card तथ पावती पर्ची पेश करने पर तथा परत्येक क़िस्त के लिए शर्तो की पूर्ती के बाद शेष लाभ प्राप्त कर सकती है ।
  • लाभार्थी द्वारा फर्जी दावे के मामले में भुगतान की गई धनराशि की बसूली की जाएगी साथ ही उस पर इस फर्जीवाड़े के तहत कानूनी कार्यबही भी की जा सकती है ।

FAQ :-

  • प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना के तहत कितनी राशि दी जाती है?

Ans:-  प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना के तहत 5000/- रूपये की धनराशि तीन किस्तों में दी जाति है ।

  • प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना कैसे चेक करें?

Ans:- प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना को आप इसको ऑफिसियल वेबसाइट http://www.pmmvy-cas.gov.in या www.wcd.nic.in पर जाकर चेक कर सकते है ।

  • गर्भवती महिला योजना का लाभ कैसे ले?

Ans:-  प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना का लाभ लेने के लिए आपको अपने आंगनवाड़ी कार्यकत्री / आशा से संपर्क करें ।

  • पम्मवी के लिए कौन आवेदन कर सकता है?

Ans:-  प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना का लाभ लेने केवल गर्भवती महिलाएं ही आवेदन कर सकती है ।

pradhan mantri matru vandana yojana form pdf में डाउनलोड हमारी इस वेबसाइट www.upcmyogi.com किये जा सकते है

Pradhan Mantri Matru Vandana Yojana official site  Cliick Here

Leave a Comment