Pradhan Mantri Kusum Yojana 2022

प्रधानमंत्री कुसुम योजना 2022 आवेदन  | Pradhan Mantri Kusum Yojana 2022

जैसा कि आप सभी लोग जानते हैं कि भारत सरकार और राज्य के सभी सरकारी भारतीय किसानों पर ज्यादातर ध्यान दे रहे हैं जिससे कि उनकी आमदनी को बढ़ाया जा सके और साथ में अलग-अलग योजनाओं से देश के किसानों को लाभ पहुंचा रही है जिससे कि किसानों द्वारा लगने वाली लागत को कम किया जा सके ठीक उसी प्रकार की प्रधानमंत्री कुसुम योजना 2022 भी है। भारत सरकार द्वारा प्रधानमंत्री कुसुम योजना की शुरुआत लगभग देश के  सभी राज्यों में शुरू कर दी गई है।




प्रधानमंत्री कुसुम योजना 2022 आवेदन  | Pradhan Mantri Kusum Yojana 2022

इस योजना के तहत भारत सरकार द्वारा लगभग तीन करोड़ पेट्रोल तथा डीजल सिंचाई पंपों को सौर ऊर्जा सिंचाई पंपों में बदल देने का लक्ष्य है। इस योजना के तहत देश प्रदेश के सभी इच्छुक उम्मीदवार किसान प्रधानमंत्री कुसुम योजना का लाभ लेने के लिए अपना आवेदन कर सकते हैं आज हम आपको अपनी इस पोस्ट  के माध्यम से यही जानकारी प्रदान करने जा रहे हैं कि प्रधानमंत्री कुसुम योजना का आवेदन किस प्रकार से किया जाएगा और इस योजना में आवेदन करने के लिए क्या पात्रता हैं।

आज के हमारे इस पोस्ट में Pradhan Mantri Kusum Yojana  से संबंधित वह सभी जानकारी प्रदान की जाएंगी जिस जानकारी के अभाव में हमारे भारतीय किसान PMKY  योजनाओं इत्यादि का लाभ नहीं ले पाते। आज आप PMKY  की पूरी जानकारी प्राप्त करने के लिए हमारे द्वारा लिखी गई इस पोस्ट को अवश्य पढ़ें जिससे कि आप और आपके आसपास के किसान भाई प्रधानमंत्री कौशल योजना 2022 से संबंधित सभी जानकारी प्राप्त कर सकें।




Mantri Kusum Yojana 2022 क्या है?

प्रधानमंत्री कुसुम योजना के तहत देश के किसानों के लिए  खेतों की सिंचाई के लिए चलने वाले पेट्रोल तथा डीजल पम्पों को सौर ऊर्जा पम्पों में बदलने के लिए इस योजना को शुरू किया गया है। इस योजना की घोषणा भारत के पूर्व वित्त मंत्री (Finance Ministor) श्री अरुण जेटली द्वारा की गई थी अफसोस श्री अरुण जेटली जी अभी इस धरती पर तो नहीं है लेकिन उनके द्वारा शुरू की गई Pradhan Mantri Kusum Yojana 2022  को भारत सरकार और प्रदेश सरकार द्वारा सुचारू रूप से चलाया जा रहा है।

भारत सरकार ने Pradhan Mantri Kusum Yojana के लिए ₹34,422 करोड़ रूपये का बजट पेश किया है। इस योजना में सभी उम्मीदवारों को 60% तक की सब्सिडी केंद्र सरकार द्वारा प्रदान की जाती है और यदि किसी किसान के पास बाकी के 40% रकम नहीं होती है तब उस दशा में 30% तक का लोन बैंक द्वारा दिया जाता है फिर किसान को केवल 10% ही रकम अपनी तरफ से प्रधानमंत्री कुसुम योजना के तहत सोलर पंप लेने के लिए चुकानी पड़ती है।



प्रधान मंत्री कुसुम योजना 2022 Highlights

योजना का नाम प्रधान मंत्री कुसुम योजना 2022
किसके द्वारा शुरुआत की गयी भारत सरकार द्वारा
योजना संधित मंत्रालय कृषि एवं ऊर्जा मंत्रालय
आयवेदन प्रक्रिया ऑनलाइन (Online)
ऊदेश्य (Purpose) डीजल और पेट्रोल से चलने वाले सिचाई पम्पों को सोर ऊर्जा से चलने वाले सिंचाई पम्पों में तब्दील करना
लाभार्थी (Beneficiary ) देश के सभी किसान भाई
ऑफिसियल वेबसाईट pmkusum.mnre.gov.in
हेल्प लाइन नंबर 011-2436-0707, 011-2436-0404

Pradhan Mantri Kusum Yojana 2022 का उदेश्य

प्रधानमंत्री कुसुम योजना का मुख्य उद्देश्य खेती की सिंचाई में बड़े खर्चों को कम करना है और साथी वातावरण को प्रदूषित होने से भी बचाना है इसीलिए इस योजना के तहत देश के किसानों को पैट्रोल डीजल द्वारा चलने वाले पंपों को हटाकर सोलर पंप लगवा रही है जिससे किसानों का सिंचाई के समय डीजल पैट्रोल की खरीदारी में होने वाले खर्च को कम करने के साथ-साथ वातावरण को प्रदूषित होने से बचाना है।और यदि जो किसान सोलर पंप  की खरीदारी में आने वाले खर्च को देने में सक्षम नहीं है तब उनको 30% तक का बैंक द्वारा रणवीर प्रदान  करा रही है।

...

इसके साथ साथ जिन किसानों के पास अपना खुद का बिजली का कुआं भी है  यदि वह किसान भी इस योजना के तहत सोलर पंप लेते हैं तब किसानों को और सरकार को दोनों को ही लाभ होता है।



Pradhan Mantri Kusum Yojana 2022 में लगने वाले आवश्यक दस्तावेज

यदि कोई आवेदक PM Kusum Yojana 2022  में आवेदन करना चाहता है तब उसको  यह जानना बहुत जरूरी है कि इस योजना में आवेदन करने के लिए किन-किन दस्तावेजों की आवश्यकता होती है उन दस्तावेजों की सूची नीचे दी गई है ध्यान रहे आवेदन करने से पहले आवेदन में लगने वाले सभी दस्तावेजों को पहले तैयार करा लें ।

  • आवेदक का आधार कार्ड
  • आवेदक का मूल निवास
  • आवेदक का आय प्रमाण पत्र
  • आवेदक के किसान होने का प्रमाण पत्र
  • बैंक खाते की पासबुक की फोटोकापी
  • किसान की जमीन का विवरण
  • किसान का पासपोर्ट साइज फोटो
  • किसान का मोबाइल नंबर इत्यादि

यदि इस योजना के लिए आप बैंक से ऋण भी लेते हैं तब कंडीशन में बैंक आप से ऊपर दिए गए दस्तावेजों का अतिरिक्त कुछ और दस्तावेजों की मांग कर सकता है और बैंक द्वारा मांगे गए सभी दस्तावेजों को भी आपने बैंक में जमा करने के लिए देने हैं।

प्रधानमंत्री कुसुम योजना 2022  की पात्रता

पीएम कुसुम योजना का लाभ लेने के लिए आवेदक को भारत का स्थाई निवासी होना चाहिए।

  • कुसुम योजना के तहत आवेदक द्वारा अपनी भूमि के अनुपात में 2 मेगा वाट या फिर वितरण निगम द्वारा अनुसूचित क्षमता में से जो भी कम हो उसके लिए आवेदक आवेदन कर सकता है।
  • इस योजना के अंतर्गत स्वयं के द्वारा किए जाने वाले निवेश से प्रोजेक्ट के लिए किसी भी प्रकार की वित्तीय योग्यता (Cibil Score) की आवश्यकता नहीं है।
  • किसी विकास करता के माध्यम से प्रोजेक्ट विकसित किया जा रहा है तो उस विकास करता की नेटवर्क 1 करोड़ रुपए प्रति मेगावाट होना आवश्यक है।
  • आवेदक के पास प्रति मेगावाट के लिए लगभग 2 हेक्टेयर भूमि की आवश्यकता होनी चाहिए|

उत्तर प्रदेश PM Kusum Yojana के लिए आवेदन प्रक्रिया 2022

हम आपको यहां पर उत्तर प्रदेश की कुसुम योजना के अंतर्गत होने वाली ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया के बारे में बताने जा रहे हैं आप ही दी उत्तर प्रदेश के निवासी हैं तब इस योजना के लिए आवेदन हमारे द्वारा लिखी गई जानकारी के हिसाब से कर सकते हैं। किसी दूसरी प्रदेश के रहने वाले हैं तब आप कुछ स्थिति में भी ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं लेकिन प्रत्येक प्रदेश के लिए इनकी अधिकारिक वेबसाइट अलग-अलग है इसका लिंक भी हम नीचे दे देंगे ।




  • उत्तर प्रदेश कुसुम योजना के तहत आपको आवेदन करने के लिए सबसे पहले इसकी kusum yojana official website पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने आधिकारिक वेबसाइट का होम पेज घूम कर आ जाएगा।

Pradhan Mantri Kusum Yojana 2022

  • इसके बाद आपने होम पेज पर दिखाई दे रहे प्रोग्राम टैब पर क्लिक करना होगा।
  • जैसे ही आप प्रोग्राम टैब पर क्लिक करेंगे आपको एक लिस्ट नजर आएगी उस लिस्ट में से आपने सोलर एनर्जी प्रोग्राम के विकल्प पर क्लिक करना है।
  • इसके पश्चात आपने कुसुम योजना के विकल्प पर क्लिक करके आगे बढ़ना है।
  • इसके बाद आपके सामने 4 योजनाओं के नाम दिखाई देंगे जिसमें से आपने अपने सोलर पंप के लिए आवेदन करना है क्या वहां कुसुम योजना वाले ऑप्शन पर क्लिक करेंगे।
  • के बाद आपके सामने अगला पेज ओपन हो जाएगाऔर ऑनलाइन आवेदन के लिए form न भी दिखाई देगा जिसको आप सही प्रकार से भर कर अपना आवेदन कंप्लीट कर सकते हैं और साथ ही मांगे गए दस्तावेजों को भी सही से अपलोड कर सकते हैं।

कुसुम योजना के तहत आप अपने छत पर भी solar Plant  लगवा सकते हैं इसकी आवेदन प्रक्रिया अभी बहुत आसान है बस सिर्फ आपने इसकी ऑनलाइन आवेदन के लिए https://upnedasolarrooftopportal.com/# वेबसाइट पर जाकर Apply Section  से अप्लाई कर सकते हो।

यदि आप उत्तर प्रदेश से नहीं है तब आपके प्रधानमंत्री कुसुम योजना में आवेदन करने के लिए कुछ और प्रदेशों के वेबसाइट के लिंक भी नीचे लिख दिए गए हैं आप जिनकी सहायता से अपना आवेदन कर सकते हैं।

Sr.No. State Nodal Agencies URL
1 Alternate Hydro Energy Centre, IITR (AHEC) http://www.iitr.ernet.in/departments/AH
2 Indian Renewable Energy Development Agency Limited (IREDA) http://ireda.gov.in
3 Green Rating for Integrated Habitat Assessment (GRIHA) http://www.grihaindia.org
4 Non-Conventional Energy Development Corporatiopn of Andhra Pradesh Ltd. (NEDCAP) http://nedcap.gov.in
5 Assam Energy Development Agency (AEDA) http://www.assamrenewable.org
6 Gujarat Energy Development Agency (GEDA) http://geda.gujarat.gov.in
7 Haryana Renewable Energy Development Agency (HAREDA) http://hareda.gov.in
8 Himachal Pradesh Energy Development Agency (HPEDA) http://himurja.nic.in
9 Jharkhand Renewable Energy Development Agency (JREDA) http://www.jreda.com
10 Orissa Renewable Energy Development Agency (OREDA) http://oredaodisha.com

धोखे बाजो से सावधान

 यदि आप इस योजना  की आधिकारिक वेबसाइट पर जाते हैं तब आपको इस वेबसाइट के होम पेज पर एक पॉपअप तो होता हुआ दिखाई देगा जिस का स्क्रीनशॉट हमने नीचे भी दे दिया है। यदि आप इस योजना के लिए आवेदन करते हैं इसकी आधिकारिक वेबसाइट पर आवेदन करें।  प्रधानमंत्री योजना के लिए फर्जी  वेबसाइट भी चलाई जा रही है  जिनके जरिए यदि आप आवेदन करते हैं तब आपका आवेदन होने की वजह आपके साथ कोई धोखाधड़ी भी हो सकती है क्योंकि जब आप अपना आवेदन करते हैं तब उसमें आपसे आपकी निजी जानकारी भी मांगी जाती है जो गलत  वेबसाइट ओपन शेयर कर दी जाती है और इसी वजह से आपके साथ धोखाधड़ी भी हो जाती है। तो हम यहां पर इतना ही कहना चाहेंगे यदि आप ऑनलाइन आवेदन करते हैं तब पहले आप इस वेबसाइट की जांच कर ले आप जिस वेबसाइट पर अपना आवेदन करने जा रहे हैं वेबसाइट प्रधानमंत्री  कुसुम योजना आधिकारिक वेबसाइट है।

प्रधानमंत्री कुसुम योजना (PM Kusum Yojana)




प्रधानमंत्री कुसुम योजना के लाभ

Pradhan Mantri Kusum Yojana से भारतीय किसानों को कौन-कौन से लाभ और किस प्रकार के लाभ मिल रहे हैं इसकी जानकारी भी हमने नीचे दे दिए हम आपको हैं ।यह भी बता दें इस योजना के तहत किसानों के लाभ के साथ साथ सरकार को भी लाभ मिल रहा है।

  • प्रधानमंत्री कुसुम योजना का जो सबसे पहला लाभ है वह यह है कि इस योजना के तहत लगने वाले सोलर पंप मेंआने वाले खर्च का मात्र 10 फ़ीसदी ही किसानों को भुगतान करना पड़ता है।
  • किसानों की जो भूमि सिंचाई के कारण बंजर या किसी प्रकार की खेती नहीं कर पाते हैं सोलर पंप की मदद से किसान उस भूमि में भी खेती कर पाएंगे।
  • सोलर पंप में लगने वाले सोलर पैनल की सहायता से सोलर पंप चलाने के साथ-साथ बिजली का उत्पादन भी किया जा सकता है।
  • प्रधानमंत्री कुसुम योजना के तहत किसानों की लागत कम हो जाने से उनकी आय में वृद्धि होगी।
  • सूखा पड़ने के कारण जब किसानों की खेती में अनाज उत्पन्न नहीं हो पाता है तब तब उस दशा में अपना कर्ज न चुकाने के कारण किसान आत्महत्या करने की कोशिश या कुछ किसान कर भी चुके हैंसोलर पंप की मदद से बिना बिजली खर्च और बिना तेल खर्च के अपने खेतों की सिंचाई कर सकते हैं।
  • सोलर पंप में लगने वाले सोलर पैनल को एक बार लगा कर लगभग 20 से 25 साल तक के खर्चे हो कम कर सकते हैं।
  • प्रधानमंत्री कुसुम योजना के तहत सोलर पंप में लगे सोलर पैनल से जो बिजली बनती है उस बिजली को किसान अपने घर पर भी यूज कर सकता है जिससे उसके घर का बिजली का बिल भी बहुत कम हो जाएगा।
  • इस योजना से वायु प्रदूषण और डीजल पेट्रोल से चलने वाले इंजन की आवाज से होने वाले ध्वनि प्रदूषण को भी कम किया जा सकेगा।
  • सोलर पंप से किसी भी प्रकार का पर्यावरण को कोई नुकसान नहीं है।
  • सोलर पंप मैं लगे सोलर पैनल में किसानों का खर्चा सिर्फ एक बार ही होता है इसके बाद उनकी लाइफ लगभग 25 वर्ष तक रहती है और किसान 25 वर्षों तक बिना किसी खर्चे के अपनी फसल को अच्छे से करता रहेगा।

उत्तर प्रदेश में 5000 सोलर पंप लगाए जाएंगे

उत्तर प्रदेश के माननीय मुख्यमंत्री योगी आदित्य जी रहें अपने दूसरे कार्यकाल के पहले बजट में जो कि 26 मई को पेश किया गया था इस बजट के अंतर्गत प्रधानमंत्री किसान ऊर्जा सुरक्षा और उत्थान महा अभियान योजना के अंतर्गत उत्तर प्रदेश के किसानों को मुफ्त में सिंचाई संयंत्र के रूप में 15000 सोलर पंप लगाने की घोषणा की थी। इस बजट के अनुसारप्रदेश के सभी किसान 14307 सरकारी नलकूपों के माध्यम से मुफ्त में  अपने खेतों की सिंचाई कर सकेंगे। इतना ही नहीं राज्य सरकार को 212 राजकीय नलकूपों के निर्माण के लिए 423 करोड रुपए नाबार्ड द्वारा भी प्राप्त किए जाएंगे। और इसके अलावा 6600  उत्तर प्रदेश के नलकूपों का आधुनिकरण के लिए 150 करोड़ रुपए एवं 569  बंद पड़े राज के नलकूपों  के सुचारू रूप से काम कराने के लिए 130 करोड़ रुपए का सुझाव की दिया गया है।



Rajasthan Kusum Yojana 2022

जैसा कि हमने आपको पहले ही बताया है कि इस योजना की शुरुआत भारत के अनेकों प्रदेशों में हो चुकी है वैसे ही राजस्थान में भी इस योजना की शुरुआत हो चुकी है। राजस्थान में इस योजना के तहत सिंचाई करने वाले किसानों के  डीजल पंपों को सौर ऊर्जा वाले पंपों में बदला जाएगा। ज्यादातर यह योजना उन प्रदेशों में अधिक फायदेमंद रहेगी जो प्रदेश या जो एरिया सूखे से प्रभावित होती रहती हैं और इससे उनकी फसल भी नष्ट होती रहती है। कुसुम योजना 2022 के अंतर्गत तीन करोड़ सौर ऊर्जा संयंत्रों को 1.4 लाख करोड रुपए की लागत से लगाए जाएंगे। साथ ही इनमें से 48000 करोड रुपए भारत सरकार द्वारा दिए जाएंगे।सोलर पंपों के लिए किसानों को केवल लगने वाली कुल लागत का 10% थी देना होगा और 30% बैंकों द्वारा लोन के माध्यम से दिया जाएगा।

PM Kusum Yojana के अंतर्गत solar Pump लगाने का समय

जो भी आवेदन करता हूं कुसुम योजना के तहत आवेदन करेगा उसको उसके आवेदन के अनुसार उसका सोलर पंप आवेदन करने की तिथि से 9 महीने की अवधि में प्राप्त हो जाएगा या उसके खेतों पर लगवा दिया जाएगा। कुसुम योजना के तहत आवेदन करने के बाद  संबंधित विभाग द्वारा SPG  को  सोलर पंप लगाने के लिए Letter of Authorization जारी करेगी। Letter of Authorization  मिलने के बाद संबंधित विभाग द्वारा इसको इन 9 महीने की अवधि के अंदर ही स्थापित करना होगा।  यदि इस अवधि के भीतर सोलर पंप की स्थापना नहीं की जाती है इस स्थिति में संबंधित को पेनल्टी का भुगतान भी करना पड़ेगा और यह पेनल्टी पीटीआई की शर्तों के अनुसार ही वसूल की जाएगी। और पीपीए की अवधि के दौरान सोलर पंप द्वारा कम से कम 15% एनुअल कैपेसिटी रिलेशन फैक्टर बनाए रखना अनिवार्य है यदि यह कैपेसिटी यूटिलाइजेशन 15% कम होता है तब उस स्थिति में क्षतिपूर्ति भी देनी होगी।  और यदि एसपीजी द्वारा प्रस्तुत किए गए दस्तावेज किसी भी तरह से गलत पाए जाते हैं तब उस स्थिति में आवेदन किसी भी स्तर पर अमान्य किया जा सकता है।



PM Kusum Yojana के कॉम्पोनेंट्स

PM कुसुम योजना वर्ष 2019 के कुल तीन कॉम्पोनेंट के साथ लाई गई थी जो नीम लिखित है |

Component-A

बंजर भूमि पर 10,000 मेगावाट विकेन्द्रीकृत ग्रिड कनेक्टेड अक्षय ऊर्जा संयंत्र स्थापित करने के लिए। PM Kusum Yojana के तहत, 500 किलोवाट से 2 मेगावाट क्षमता के अक्षय ऊर्जा आधारित बिजली संयंत्र (RPP) व्यक्तिगत किसानों/किसानों के समूहों /सहकारिता /पंचायतों /किसान उत्पादक संगठनों (FPO)/जल उपयोगकर्ता संघों (WUA) द्वारा बंजर / परती भूमि पर स्थापित किए जाएंगे। इन बिजली संयंत्रों को खेती योग्य भूमि पर स्टिल्ट्स पर भी स्थापित किया जा सकता है जहां फसलें सौर पैनलों के नीचे भी उगाई जा सकती हैं। सब-ट्रांसमिशन लाइनों की उच्च लागत से बचने और ट्रांसमिशन घाटे को कम करने के लिए सब-स्टेशनों के पांच किलो मीटर के दायरे में अक्षय ऊर्जा बिजली परियोजना स्थापित की जाएगी। उत्पन्न बिजली स्थानीय DISCOM द्वारा पूर्व-निर्धारित टैरिफ पर खरीदी जाएगी |

Component-B

17.50 लाख Stand-alone सौर कृषि पंपों की स्थापना होनी है साथ ही इस योजना  के तहत, जहां ग्रिड आपूर्ति उपलब्ध नहीं है वहाँ पर अलग-अलग किसानों को ऑफ-ग्रिड क्षेत्रों में मौजूदा डीजल कृषि पंपों / सिंचाई प्रणालियों के प्रतिस्थापन के लिए 7.5 एचपी तक की क्षमता के Stand-alone सौर कृषि पंप स्थापित करने के लिए सहायता दी जाएगी | साथ ही पंप भी स्थापित किए जा सकते हैं, हालांकि, वित्तीय सहायता 7.5 एचपी क्षमता तक सीमित होगी|




Component-C

10 लाख ग्रिड से जुड़े सभी कृषि पंपों का सोलराइजेशन करने के लिए । इस योजना के तहत, ग्रिड से जुड़े कृषि पंप वाले व्यक्तिगत किसानों को पंपों को सोलराइज करने के लिए सहायता दी जाएगी। किसान सिंचाई की जरूरतों को पूरा करने के लिए उत्पन्न सौर ऊर्जा का उपयोग करने में सक्षम होगा और अतिरिक्त सौर ऊर्जा को पूर्व-निर्धारित टैरिफ पर DISCOM को बेचा जाएगा।

Pradhan Mantri Kusum Yojana 2022 आवेदन के लिए लिंक

प्रधानमंत्री कुसुम योजना के तहत ऑनलाइन आवेदन करने के लिए नीचे कुछ राज्यों  की वेबसाइट के लिंक दिए हुए हैं। आप इन वेबसाइट के माध्यम से आप अपना आवेदन ऑनलाइन कर सकते हैं।

राज्य का नाम रजिस्ट्रेशन फॉर्म लिंक
राजस्थान (Rajasthan ) यहां क्लिक करें
मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) यहां क्लिक करें
हरियाणा (Haryana) यहां क्लिक करें
पंजाब (Punjab) यहां क्लिक करें
उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) यहां क्लिक करें

Leave a Comment